Income Tax Act Section 44AD in Hindi – Presumptive taxation

Presumptive Taxation, Income Tax Act Section 44AD & 44ADA को जाने से पहले, Presumptive Income के बारे में जानना बहुत ज़रूरी है|

Presumptive Income :- इसका मतलब ये हुआ की, एक ऐसी Income जो Actual में नहीं है बस Assume किया जा रहा है|

मुझे पता है, आप क्या सोच रहे हो ? Tax तो हम Actual Income में Pay करते है| तो Presumptive Income में कैसे होगा ? क्या हमें Tax नहीं देना होगा ?

Tax तो बाप बोल के देना होगा | Tax देने से तो बच नहीं सकते |

आइये जानते है Presumptive Income की  ज़रूरत क्यों पड़ी ?

Concept of Presumptive Income Taxation and it’s Need

किसी भी  Financial Year की Last में आप क्या करते हो ??

पूरे साल में आपने कितना पैसा लगाया, कितना कमाया ?? Profit क्या है? Deduction Claim करना | Tax का Calculation, Payment फिर Return File करना | बहुत कुछ |

जो लोग CA है, उनके लिए तो ये आसान है| पर, एक Normal इंसान के लिए ये सर दर्द है| नहीं हो पाएगा ये सब | बहुत बड़ा झंझट है| पर Tax तो देना ज़रूरी है| नहीं तो, आपको तो पता ही है|

यहां पर Income Tax Department आपसे कहता है की, ठीक है हमारे पास आप जैसे लोगो के लिए भी एक उपाय है| आपको ये सब करने की कोई ज़रूरत नहीं है| कोई Calculation नहीं करना है| आप हमपे छोड़ दो | हम देख लेंगे |

Presumptive Income Taxation

सरकार आपसे कहती है की आपकी जो भी Turnover है पूरे एक साल की हम उसमे एक % set कर देंगे | और इस % को हम आपकी Income मान लेंगे |

एक Example लेते है :-

मान लेते है आपकी Turnover 100 रूपए है| और उनलोगों ने 7% Set कर दिया | तो 100 रूपए के 7% हुए 7 रूपए | तो Income Tax Department आपसे कहती है इस 7 रूपए पे आप Tax दे देना | आपको अलग से कुछ और करने की ज़रूरत नहीं है|

I think अब आपको आया होगा Presumptive Income का Concept. यहां पर Actual Income का Calculation नहीं हो रहा है| Assumption basis पे आप Tax दे रहे हो |

Presumptive Taxation लिए हमारे Income Tax Act 1961 में दो Section बनाए गए है| Section 44AD और 44ADA.

Income Tax Act Section 44AD

  • Presumptive Taxation का ये Section Business के लिए है|

Who Can Claim Section 44AD ?

  • एक Eligible Assessee या Eligible Business दोनों Claim कर सकते है|

Eligible Assessee :-

  • एक Individual, HUF या Partnership Firm जो India का Resident है, LLP Firm वाले नहीं कर सकते |और,
  • जिसने Section 10A, 10AA, 10B, 10BA के तहत Claim deduction नहीं किया हो |

अगर ये दो Condition आप fulfill करते हो, तो Claim कर सकते हो |

Eligible Business :-

  • Section 44AE में जितने काम Mention किये हुए है, जैसे की – plying, hiring or leasing goods Carriages….etc. इन सभी Businesses को छोड़ के बाकी सारे businesses में Claim कर सकते हो | और,
  • आपकी Turnover या Gross Receipt 2 Crore से ज़्यादा का नहीं होना चाहिए |

ये दोनों Condition का Fulfill होना ज़रूरी है|

Income की % क्या होगी ?

अगर आपका Business Cash में चलता है| Cash में आप Payment लेते हो और Cash में Payment देते हो, तो कम से कम 8% मानेंगे |

अगर आपका Business Online है digitally आपके पास पैसा आ रहा है Bank, Cheque, Draft या Online Payment से तो 6% Consider किया जाएगा |

Important Points of Section 44AD :-

  • Deduction under Section 28 से 43C के तहत आपको अलग से Deduction नहीं मिलेगा | मान लिया जाएगा की Deduction Claim हो चुकी है|
  • Depreciation का भी अलग से कोई deduction नहीं मिलेगा |
  • अगर आपने एक बार Presumptive Taxation का method चुन लिया | तो कम से कम अगले 5 साल तक इसे follow करना ही होगा |
  • नहीं किया तो अगले 5 साल तक इस Section को फिर से Opt नहीं कर सकते |
  • अगर आपकी Turnover Basic Limit से ज़्यादा हो गयी, तो Obviously BoA(Books of Account) का Method से आपका Calculation होगा |

Section 44AD का Benefit कौन नहीं ले सकता है ?

  • कोई भी Profession वाले लोग इसको Claim नहीं कर सकते |
  • Insurance Agent, agency के लिए भी ये Applicable नहीं होगा |

Income Tax Act Section 44ADA

  • ये Section Profession के लिए है|

Who Can Claim ?

  • कुछ Specified Profession है सिर्फ वो ही ये Claim कर सकते है| और,
  • आपकी Gross Receipts 50,00,000 (50 लाख) से कम होना चाहिए |
  • एक Individual, HUF, Firm पर LLP नहीं होना चाहिए |
  • यहां पर वो Limit 50% है|

Example :-

अगर आपकी Annual Income 20 लाख है| तो 20 लाख का 50% 10 लाख हुआ | तो 10 लाख आपकी Profit मान लेंगे और आपको 10 लाख में Tax देना होगा |

Important Points :-

यहां भी अलग से कोई Deduction नहीं मिलेगी |

अगर कोई Person ये Claim करता है की मेरी Profit, Total Gross Receipts के 50% से कम है पर Basic Exemption Limit (2,50,000) से ज़्यादा है| तो उसको BoA (Books of Accounts) maintain करना होगा और Audit भी |

Specified Professions है :-

  • Authorized Representative.
  • Information Technology Professionals.
  • Medical.
  • Architectural Professions.
  • Technical Consultancy.
  • Company Secretary, Accountancy.
  • Interior Decorations.
  • Films.
  • Engineering

Some Post Related to This Article :-

>> Income Tax Act Section 10 – ये Income में सरकार भी Tax नहीं मांगती | 

>> Income Tax Act Section 24 – Home Loan बिना Interest के | 

>> Section 54 of Income Tax Act – Capital Gains पर कोई Tax नहीं देना होगा | 

>> Income Tax Act Section 80D – Health Insurance में पाओ Tax Deduction. 

>> Section 80C of Income Tax Act – 1.5 लाख तक का Investment में कोई Tax नहीं | 

>> Section 56 of Income Tax Act- Gift Tax in India

>> Section 44AB of Income Tax Act – Tax Audit

Spread the love

3 thoughts on “Income Tax Act Section 44AD in Hindi – Presumptive taxation”

Leave a Comment