Section 269SS, 269T, 269ST of Income Tax Act in Hindi

Section 269ss of Income Tax Act कहता है की कोई भी Person किसी दूसरे Person से 20,000 या इससे ज़्यादा का Loan, Deposit या Advance in Relation to Immovable property Cash में नहीं ले सकता है| आप सिर्फ Cheque, Draft या Electronic Mode से ही Transfer कर सकते हो |

Section 269SS of Income Tax Act 

1 दिन में एक Person से 20,000 या 20,000 से ज़्यादा का Cash नहीं ले सकते | अगर आपने किआ तो Section 271D का penalty लग जाएगा |

इस Topic को थोड़ा और Clear करते है कुछ Example ले के |

Example -1:-

Mr X, Mr Y से Cash में 18,000 का Loan लेते है| ये 20000 से कम है तो कोई penalty नहीं लगेगा | अब कुछ दिन, महीने के बाद Mr X, Mr Y से फिर से Cash में 17,000 का Loan लेते है|

पर अब Mr X पर penalty लगेगा | क्यंकि Total Loan 20,000 (18000 + 17000 = 35,000) से ज़्यादा हो गए है|

Example – 2:-

Mr. X, Mr. Y से Electronic mode से 25,000 का Loan लिया | इसमें कोई Penalty नहीं लगेगा | क्यूंकि Electronic mode से लिया है| इसके बाद Mr. X फिर से Mr. Y से 12000 का Loan Cash में लिया |

इस Case में भी Mr. X को Penalty लगेगा | Total Loan 20,000 से ज़्यादा हो गए |

Example – 3:-

Mr. X, Mr. Y से Electronic mode या Cash में 18,000 का Loan लिया | कोई भी Penalty नहीं लगेगा | अब Mr. X ने Mr. Y को 18000 का Loan चूका दिया Cash में | अभी भी कोई penalty नहीं लगेगा |

अब Mr. X फिर से 17,000(20,000 से कम) का Loan लेता है किसी भी Mode से कोई Penalty नहीं लगेगा |

Example – 4 :-

Mr. X, Mr. Y से Cash में 20,000 का Loan लिया | बाद ने इसने Cash में ही अपना Loan repay कर दिया | इस Case में, जब आपने Loan लिया तब भी आपको Penalty लगेगा और जब आपने Loan के repay किया तब भी penalty लगेगा | क्यूंकि 20,000 या 20,000 से ज़्यादा का Cash में लेन देन होने से Penalty लगता है|

इस Case में Section 269ss और 269T दोनों का Violation हुआ है| तो Section 271D और Section 271E के तहत Penalty लगेगा |

कोई भी Outstanding Loan है जिसका Repay करने से पहले अगर आप कोई और Loan ले लेते हो  Cash में और दोनों का Sum 20,000 से ज़्यादा हुआ तो penalty लगेगा |

https://hindimeshoutmeloud.in/tax-in-hindi-types-of-tax-in-india/

Section 269SS Exceptions :-

Section 269ss इन चीज़ों में लागू नहीं होगा |

अगर कोई Loan, deposit या Advance

  • Government को गयी हो या उसने मिला हो |
  • Post Office Bank, Banking Company या Co-operative Bank को दिए हो या निकाला हो |
  • ऐसा कोई Corporation जो State, Central या Provisional Act के द्वारा Established हुआ हो |
  • कोई भी Government Company.
  • अगर Officially कुछ Notify किये गए है तो |

> अगर किसी की Source of Income सिर्फ Agriculture है तो भी |

> Emergency के वक़्त लिया गया Cash.

> Partnership Firm में अगर Partners Cash Contribute करते है तो भी नहीं लगेगा |

Penalty on Violation of Section 269ss

अगर आपने इस Rule को तोड़ा तो आपके Loan या deposit में 100% penalty लगेगा |

अगर आपने Loan भी लिया, Deposit भी लिया और Advance भी लिया | अगर इन सब का Sum 20,000 से ज़्यादा का हुआ तो भी Penalty लगेगा |

Section 269T

ये repayment की बात करता है| कोई भी Person 20,000 या उससे ज़्यादा का Loan repay या deposit, Cash में नहीं कर सकता |

इसके Exception और Penalty same ही है जो हमने Section 269ss में देखा |

Section 269ST

Income Tax Act Section 269T कहता है की आप किसी दूसरे Person से 2,00,000 या इससे ज़्यादा का Amount, Bank Cheque, Demand Draft या Electronic Mode के आलावा किसी दूसरे Mode से Receive ही नहीं कर सकते |

2,00,000 का Calculation कैसे होगा ?

  • आप किसी भी एक Person से एक दिन में 2 लाख या इससे ज़्यादा का Cash Receive नहीं कर सकते |
  • किसी Single Transaction से Related 2 Lakh या 2 लाख से ज़्यादा का Cash Receive नहीं कर सकता |
Example :-

हमारा Business है और हमने 3 लाख का सामान बेचा है|

2 लाख से ज़्यादा का Cash हम Receive नहीं कर सकते | ऐसे में कुछ बोलेंगे हम 3 दिनों तक 1 लाख Per Day Receive करेंगे Cash. पर ये भी गलत होगा | आप नहीं कर सकते |
Bill अगर अलग अलग चीज़ो की है तो कोई दिक्कत नहीं है| पर अगर Bill एक है तो नहीं कर सकते |

किसी Occasion या Event से Related भी आप 2 लाख या इससे ज़्यादा का Cash Receive नहीं कर सकते |

Example :-

किसी की शादी हो रही हो, इसने Marriage Hall 1,50,000 में Book किया है| खाना का Bill आया 80,000 और Band का 25,000. Total Amount हुए 2,55,000.

अगर कोई एक Person ने इन सारा Arrangement किया है तो वह 2,55,000 Cash में Receive नहीं कर सकता |

Section 269ST Exceptions :-

  • अगर आपका पैसा Government, Cooperative Bank, Post Office Saving Bank या Banking Company को जा रहा है तो Penalty नहीं लगेगा |
  • अगर कोई Transaction 269SS में Considered है तो 269ST के तहत Penalty नहीं लगेगा |

इसके अलावा Government ने कुछ Cases Notify कर रखा है जिसमे Penalty नहीं होगी |

  • अगर आप Co-perative Bank या Post Office Bank से कितने का भी Cash Withdraw करो Section 269ST नहीं लगेगा |
  • Bank या कोई Person किसी Bank के behalf में Cash Receive कर रहा है RBI के guidelines के According तो कोई दिक्कत नहीं है|
  • Pre Paid Instruments Issue करने के लिए किसी Agent से पैसा मिलता है तो ये नहीं लगेगा |
  • Credit Card का bill Pay करते तो तो उसमे भी नहीं लगेगा |
  • Section 10(17A) के तहत अगर आपको कोई Award मिलता है तो भी ये Section नहीं लगेगा |
  • Housing Finance Company या NBFC से अगर आप Loan लेते हो और उसका repayment में आपका हर Installment को एक अलग Transaction से देखा जायगा | Overall 2 Lakh की Limit को नहीं देखा जायगा |

Section 271 DA के तहत अगर Section 269ST का Violation होता है तो 100% Penalty लगेगा |


Some Post Related to This Article :-

>> Income Tax Act Section 10 – ये Income में सरकार भी Tax नहीं मांगती | 

>> Income Tax Act Section 24 – Home Loan बिना Interest के | 

>> Section 54 of Income Tax Act – Capital Gains पर कोई Tax नहीं देना होगा | 

>> Income Tax Act Section 80D – Health Insurance में पाओ Tax Deduction. 

>> Section 80C of Income Tax Act – 1.5 लाख तक का Investment में कोई Tax नहीं | 

>> Income Tax Act Section 44AD – Presumptive taxation

>> Section 56 of Income Tax Act- Gift Tax in India

>> Section 44AB of Income Tax Act – Tax Audit

>> Section 194j of Income Tax – TDS

>> Section 87a of income tax act- 12500 तक का Tax Rebate.

>> Section 80DDB of Income Tax Act- 1,00,000 तक का maximum Deduction 

>> Seventh proviso to section 139(1) Income Tax Act

Spread the love

1 thought on “Section 269SS, 269T, 269ST of Income Tax Act in Hindi”

Leave a Comment