Section 194j of Income Tax – TDS in Hindi

Section 194j of Income Tax कहता है की, आप कोई भी Professional या Technical Services लो, जब भी उनकी Fees उनको दो तो TDS काट के दो |

TDS (Tax Deduction at Source) in Hindi.

अगर हम  Short में बोले तो, TDS जिसका Full Form है Tax Deduction at Source. ये Tax Collecting करने का एक method है|

सरकार ने अलग अलग तरीके बनाए है Tax वसूलने के | TDS के अलावा और तीन तरीके है|

Section 194j of Income tax Act 

Types of Payment Covered in Section 194j

1. Professionals Fees

[Lawyer, Doctor, Engineer, Architect, Chartered Accounted, Interior decorators, Advertisers…..etc.]

2. Fees for Technical Services.

[Technical or Consultancy Fees.]

3. Remuneration Paid to Directors excluding Salary.

यहां पर Salary की बात नहीं हो रही है| कोई भी Directors अगर board meeting के लिए आता है, तो उसके कुछ Charges होते है|

4. Royalty

अगर आप अपना Copyright चीज़ या Patent किसी को Use करने के लिए देते हो, तो इसके लिए वो जो आपको Payment करेगा | वो Royalty होगा |

5. Payment in the Nature of Non-Compete Fees.

किसी को अपने Competition में न आने के लिए उसको कोई Payment करते हो, तो वो ये है| या फिर आप चाहते हो की ये Particular Person हमारे साथ ही काम करे, कहीं और न जाए | इसके लिए अगर आप उसको कुछ Extra Payment करते हो |

TDS काटने की Limit

  • अगर आपने 30,000 से ज़्यादा की Payment की तो TDS कटेगा | पर,
  • Director के Case में ये लागू नहीं होता | Director को कितने भी Amount का Payment करो, TDS कटेगा | Director की Case में कोई Limit नहीं है|
  • कोई भी Individual या HUF Business कर रहा है और उसकी Turnover 1 Crore से कम है तो TDS काटने की ज़रूरत नहीं है|
  • कोई Individual या HUF Profession में है तो उसकी Turnover 50 लाख से ज़्यादा नहीं होना चाहिए |

Rate of Deduction of Tax

  • कोई भी Payment अगर इसमें Consider होते है तो आप 10% का TDS काट सकते हो |
  • 1 April 2020 में एक Amendment आया की, Technical Services के लिए आप जो Payment करोगो उसका TDS rate 2% होगा |
  • Call Centre के Operators को salary, हमे 2% TDS काट के देना है|
  • जिसको आप Payment कर रहे हो और उसके पास अपना PAN no. नहीं है तो 20% का TDS कटेगा |

TDS का Deduction कब करना है?

  • अपने Accounts में Entry करते वक़्त या जब हम Actual Payment करेंगे | जो पहले होगा |

Deduction नहीं किया या Late से किया तो क्या होगा ?

  • अगर आपने Late Payment किया तो TDS के साथ Government को Interest भी देना होगा |
  • अगर Tax का deduction ही नहीं हुआ | तो Per Month 1% का Interest लगेगा जब तक आपने Pay नहीं किआ है|
  • Tax तो deduct किया पर Government को Pay नहीं किया तो 1.5% का Interest per Month Charge होगा |

Some Post Related to this Article :-

>> Income Tax Act Section 10 – ये Income में सरकार भी Tax नहीं मांगती | 

>> Income Tax Act Section 24 – Home Loan बिना Interest के | 

>> Section 54 of Income Tax Act – Capital Gains पर कोई Tax नहीं देना होगा | 

>> Income Tax Act Section 80D – Health Insurance में पाओ Tax Deduction. 

>> Section 80C of Income Tax Act – 1.5 लाख तक का Investment में कोई Tax नहीं | 

>> Income Tax Act Section 44AD – Presumptive taxation

>> Section 56 of Income Tax Act- Gift Tax in India

>> Section 44AB of Income Tax Act – Tax Audit

>> >> Section 87a of income tax act- 12500 तक का Tax Rebate.

Spread the love

6 thoughts on “Section 194j of Income Tax – TDS in Hindi”

Leave a Comment