RBI(Reserve Bank of India) Monetary Policy 2021 in Hindi

अगर आपको नहीं पता है तो RBI(Reserve Bank of India) हर दो महीने में Monetary Policy committee की Report पेश करता है|

इस साल का 2021-2022 का पहला Report आ चूका है| सबसे पहले तो हम ये जानते है की,

Monetary Policy क्या है? | What is Monetary Policy

Monetary Policy को 2016 में लाया गया था | इस Policy का Main Objective है Inflation को Control करना और साथ ही Market में जो Money Supply हो रहा है उसको भी Control करना | Monetary Policy में ये काम RBI करती है|

ये है कुछ और Objective :-

  • Inflation को Control करना – कोशिश यही रहता है की Inflation 2 से 6% के बीच में रहे |
  • Reduce Unemployment.
  • Long Term Interest Rate.
  • Stability in Currency Exchange Rate.

मैं आपको बताना चाहता हूँ की Money Control करने के लिए हमारे देश में दो Policy है :-

Fiscal Policy – इसमें Government Involve होती है| Government अपने तरीके से Money को Control करती है|

Monetary Policy – इसमें वही same काम अपने तरीके से RBI करती है|

कभी न कभी आपके दिमाग में ये ख्याल तो आया ही होगा की – Note छापने की मशीन है हमारे पास, तो सरकार जितनी मर्ज़ी उतनी Note क्यों नहीं छापती ? छापों और पैसा बाट दो गरीबों में | गरीबी दूर हो जाएगी | क्या दिक्कत है ?

इसका Answer है अगर सरकार ऐसा करती है की जितनी मर्ज़ी उतनी Note चाप छापती है तो International Market में हमारे Currency की Value और गिर जाएगी | पैसा बाट के गरीबी नहीं मिटाई जा सकती | क्यूंकि मान के चलो,

अभी हमे $1 के बदले 70 रूपए देने पड़ते है| तो ये हो सकता है की $1 के बदले 100 रूपए देने पड़े, अगर हम जितनी मर्ज़ी उतना नोट छापे तो | ऐसे में तो हम खुद लूट जायेंगे | गरीबी क्या हटाएंगे |

कौन Decide करता है Bank Rate, Repo Rate, Reverse Repo Rate क्या होंगे ?

इसको Decide करने के लिए एक Committee है| जिसमे Voting के through ये सब decide होता है| जिसे हम Monetary Policy Committee के नाम से जानते है|

जिसमे Total 6 लोग है| 3 लोग RBI के होते है और 3 सरकार के | RBI Governor इस Group का Head होते है| और Shaktikanta Das अभी RBI के Governor है|

आइये जानते है इस पहले साल की क्या Report है :-

REPO RATE – Repo Rate में कोई Changes नहीं है, 4% है|

REVERSE REPO RATE – 3.35%.

BANK RATE, MSF(Marginal standing facility) – 4.25%.

RBI के हिसाब से GDP 10.5% होने वाली है| पर IMF का कहना है – 12.5%.

RBI ने और कुछ Important Steps/measure भी लिए है:-

>> RBI का Plan है Government Securities को Secondary Market में भी बेचने का | मतलब आम लोग भी खरीद पाएंगे | जिसको Total Worth होगी 1 Lakh Crore.

>> RTGS और NEFT जैसे Facility अब Non-Bank Payment Institutions को भी दे दिया गया है| Non-Bank Payment Institutions का मतलब है Paytm Bank, Airtel Payment Bank……..etc.

जिसको नहीं पता मैं उसको बता देता हूँ की RTGS और NEFT के वजह से ही आप पैसे को एक Account से दूसरे Account में भेज पाते हो | RTGS, जब आप एक बड़ी रकम Transfer करते हो तब काम में आता है| और NEFT छोटे Amount के लिए |

>> आप पहले Maximum अपने Payment Bank में 1 Lakh ही रख सकते थे | पर अब उसे बढ़ा के 2 लाख कर दिया गया है| Payment Bank मतलब Paytm Bank, Airtel Bank……etc.

सरकार ये सब इसलिए कर रही है क्यूंकि उसे पैसा चाहिए |

 

Spread the love
  • 2
    Shares
  • 2
    Shares

4 thoughts on “RBI(Reserve Bank of India) Monetary Policy 2021 in Hindi”

Leave a Comment