Health Insurance(हेल्थ इन्शुरन्स) in Hindi-जान है तो जहान है|

वो Dialogue तो अपने भी सुना होगा की – ” जान है तो, जहान है|” हम इंसानो के पास एक जो सबसे कीमती चीज़ है, वो है हमारी जान | क्यूंकि इसकी कोई Potential नहीं है| आप दुनिया में कुछ भी तभी कर पाओगे जब आपकी जान में जान होगी | मैं बात कर रहा हूँ आपकी Health की |

आपको किसी चीज़ में Invest करने से पहले आपको अपनी Health में ज़रूर करना चाहिए | अच्छा खाइये, Healthy रहिए लंबा चलोगे | तभी कुछ कर पाओगे और ज़िन्दगी के सभी पलों का आनंद ले पाओगे | लोगों को है आपकी ज़रूरत | ज़िन्दगी बड़ा अनमोल और खूबसूरत है|

ज़िन्दगी में कब क्या हो जाए……. किसी को नहीं पता | ऐसे में अपने Heath का ख्याल रखने के लिए बहुत ज़रूरी है Health Insurance का होना |

Health Insurance क्या है?

ये बताने की ज़रूरत है क्या ? चलो फिर भी,

अगर आपने Health Insurance ले रखा है तो किसी भी Medical Emergency के वक़्त Insurance Company आपके Treatment का Fees भरेगी | Health Insurance लेने का यही benefit है|

Health Insurance आपको क्यों लेना चाहिए ?

Health Insurance in Hindi

  • क्यूंकि आपके Treatment का सारा पैसा Insurance Company देती है| तो आपके Savings बच जाते है|
  • Cashless Treatment मिल जाता है| आपके 1 रूपए भी नहीं लगते |
  • Tax Benefit.
  • Covid जैसे महामारी से बचने के लिए |

बहुत से लोग जो रोज़ Gym कर रहे है, Healthy Organic food खा रहे है| किसी भी तरह का Toxic चीज़ नहीं ले रहे है| उन्हें लगता है Health Insurance हम जैसे लोगों के नहीं है| क्यूंकि वो Fit है|

अगर आपको ऐसा लगता है तो आप बिलकुल गलत हो | Covid बहुत बड़ा Example है आपके सामने | ऐसा महामारी कब आ जाये और किसी अपने को कब ले जाए किसी को नहीं पता है| At-least पैसो की वजह से तो किसी की जान नहीं जाएगी |

कल को आपके पास अचानक 5 Lakh की Medical Emergency आ जाये और आप उतने Wealthy नहीं हो | तो क्या करोगे ?? शायद आपको Loan लेना पड़जाए | आपका पता है Loan की Interest Rate क्या है ? एक बार research कर लो |

अगर आप सिर्फ Health Insurance नहीं लेना चाहते तो Term Insurance के साथ भी आपको Medical Help मिल जाता है|

Health Insurance लेने से पहले इन बातों का ख्याल ज़रूर रखे :-

  • Cashless Treatment मिल रहा है की नहीं ?
  • Pre और Post Hospitalization Charges Cover हो रहे है या नहीं |

Pre Hospitalization का मतलब है Hospital में Admit होने से पहले का Charges. जैसे की कोई Medical Test, Doctor Consultancy…..etc. तो बहुत से Policy में 30-60 दिनों तक के Pre Hospitalization Charges Cover कर लिए जाते है|

Post Hospitalization में 60 से 180 दिनों तक Charges Cover हो जाते है|

  • Day Care Expenses- ऐसा हमेशा नहीं होता है की आप Hospital में 24 घंटे से ज़्यादा Admit रहे | 24 घंटे के अंदर भी आपको Discharge मिल जाती है| तो Within 24 घंटे में आपने कितने खर्चे हुए, उसे कहते है Day Care Expenses.
  • Coverage कैसा मिल रहा है?

ऐसा होता है की Maturity में आपको सिर्फ 50,000 का Cover मिल रहा हो |

  • Co-Pay – बहुत से Policy में Co Pay का भी Option मिलता है| इसमें एक % set रहता है पहले से | मान के चलो आपका Co Pay 10% है| तो आपके Treatment में जितना भी Bill बनेगा उसका 10% आपको खुद देना होगा | तो ये नहीं होना चाहिए |
  • Room Rent – ये बहुत ज़रूरी है| इसी के हिसाब से आपको Hospital Assign होता है| आप देख आपके आस पास अच्छे Hospital का Room Rent क्या है|
  • धयान से पढ़ ले कौन कौन सी बीमारी Covered है और कौन कौन सी नहीं |
  • Policy खरीदते वक़्त आपसे जो भी पूछा जा रहा है उसका बिलकुल सही सही जवाब दे |
  • Waiting Period for Pre-Existing disease– अगर आपको Policy लेने से पहले कोई बीमारी है तो Insurance Company उस बीमारी का Cover 4-5 साल के बाद शुरू करती है| तो इसको कहते है Waiting Period. और हर disease का अलग अलग Waiting Period है|

आप जब भी Policy लेंगे, उसके 48 महीने पहले में जो भी Disease Diagnosed हुए होंगे वही आपके Pre Existing disease में Count होंगे |

  • Renewal Age – आपके पास Life Time Renewal का Option होना चाहिए | बहुत सी Policy में सिर्फ 70 से 80 साल तक Renewal होता है|
  • Restoration Benefit – इसमें ऐसा होता है की, मान लो मैंने 10 लाख का Health Insurance ले रखा है| और किसी बीमारी की वजह से मेरा पूरा 10 लाख Use हो जाता है| तो ऐसे में Company दोबारा से आपको 10 लाख का Cover दे देती है| यही है Restoration benefit. पर इसके लिए आपको थोड़े से ज़्यादा Premium देने होंगे | 
  • No Claim Bonus- अगर आप Claim नहीं लेते हो | ऐसी कोई Emergency नहीं आती है, तो मत सोचना आपको पैसा वापस हो जायगा | Health Insurance में पैसा वापस नहीं होता है| आपको बदले में
  1. आपका Sum Assured को बढ़ा दिया जाता है| 
  2. Premium में छूट मिल जाती है|
  • आप जिस भी Company से Policy ले रहे हो | आपको ये पता होना चाहिए की, इस Company का Tie up किस किस Hospital के साथ है| जिससे की आपको Cashless Treatment मिल जाये, नहीं तो आपको पहले पैसा जमा करना होता है|
  • Company का Claim Settlement Ratio या ICR (Incurred Claim Ratio) High होना चाहिए |
  • Sub Limit – बहुत सी Policies में ये है की उनलोगों ने अलग अलग Disease के Claim Limit कर दी है| मतलब Heart Surgery के लिए आपको सिर्फ 300000 ही मिलेंगे। ……..etc. तो ये नहीं होना चाहिए |
  • Zonal Policy- इसमें ये है की same Policy की Rate शहर के हिसाब से बदलती है| गांव में उसी Policy की Rate कम होगी और शहर में ज़्यादा |

तो लोग क्या करते है Premium बचाने के लिए रहते तो वो शहर में है पर गांव का Address दे देते है| पर अगर किसी Emergency में आपको शहर की Hospital में Shift करना पड़े तो 100% Claim नहीं मिलेगा | 20% Co Pay लग जाएगा |

  • Reasonable & Customary Clauses – अगर ये आपकी Policy में है तो इसका मतलब जान लेते है|

आपने अपना Surgery करवाया और Bill बना 1,50,000 का | पर जब आप Insurance Company के पास गए Claim के लिए तो उन्होंने मना कर दिया | उनलोगों ने कहा हम बस 1,00,000 दे सकते है| ऐसा क्यों ??

वो इसलिए क्यूंकि Insurance Company ने पता लगाया की जो Surgery आपने करवाएं है उसका Market में Rate 1,00,000 है|

  • जिस भी Company से Policy ले रहे हो उसका Terms and Condition धयान से पढ़े |

देखो Companies पैसा कमाने के लिए ही बैठी हुई है| वो पैसा कमाने का मौका कभी नहीं छोड़गी | वो गलती ढूंढ़ती ही है की  Claim Reject हो जाए | Reality में देखो क्या क्या होता है:-

मान के चलो आपकी Policy में Room Rent 5000 का है| आप Hospital जाते और किसी वजह के कारण आपका Treatment 10000 वाले Room Rent में होता है|

तो यहां पर आपकी Insurance Company आपसे बोलेगी की अगर आप 5000 के बदले 10000 वाला Room Rent में रहते हो, तो Total Room Rent का 50% ही Claim वापस होगा | जो की Obvious है|

आपको लगता है चलो ठीक है| Treatment के लिए तो 100% Claim मिल ही रहा है| पर ऐसा नहीं होता है|

Room Rent से ही आपकी बाकी सारी Charges भी Linked रहती है| अगर Total Room Rent का 50% ही Claim हो रहा है तो Treatment का भी 50% ही Claim होगा | मतलब अगर Treatment में 1 Lakh का Bill बनता है तो Company आपको 50,000 ही देगी |

तो धयान रहे की Room Rent में कोई Cap न लगा हो | मतलब Limit, जैसे की इसमें था 5000. अगर Cap लगा भी है तो बाकी सारी चीज़े Room Rent के साथ Linked न हो | Basically Room Rent आपके Cover का 1% होता है|

Top Up vs Super Top Up Policy.

Health Insurance In Hindi

Health Insurance में ये दो Keyword तो आपने सुना ही होगा, आइये जानते है इनके बारे में :-

सबसे पहले तो Top Up या Super Top Up किसी प्रकार के Riders नहीं है| ये अपने आप में Health Insurance Policy है|

आपको ये क्यों लेना चाहिए ??

आपके पास पहले से एक Base Insurance Policy है 5 लाख की | पर, आपको डर है की कहीं Claim 8-10 लाख का न आ जाए | तो आपको Top Up या Super Top Up लेना चाहिए |

Top Up या Super Top Up की खास बात ये है की, ये deductible amount के बाद ही activate होगा |

ये deductible amount क्या है? और Top Up और  Super Top Up में क्या Difference है?

Top Up :-

मान के चलो मेरे पास एक Base Policy है 5 लाख की | और मैंने Top Up Plan भी 5 लाख का ले रखा है| कल को आपके पास 7 लाख का Claim आता है|

तो 5 Lakh आपके Base Policy से जाएगा और 2 लाख Top Plan से | अगर Same Year में आपको फिर से 2 लाख का Claim आता है तो आपको लगेगा ये Top Plan से Cover हो जायगा, पर ऐसा नहीं है| आपको 2 लाख अपने जेब से लगाने पड़ेंगे |

Top Up Plan, Deductible amount के बाद चालू होता है| इस Case में आपका Deductible amount है 5 लाख, जो की Top Up Plan है| जब तक आपका Claim 5 लाख से उप्पर का नहीं होगा, आपको Top up के पैसे नहीं मिलेंगे |

यहीं पे Same Year में अगर आपको दोबारा 7 लाख Claim आता है तो आपको Top Up के पैसे मिलेंगे क्यूंकि ये deductible Amount(5000) से ज़्यादा है|

Next Year में Obviously आपका Base Amount और Top Up 5 लाख हो जायगा | पर same Year में ये Problem ज़रूर आएगा |

Super Top Up :-

इसमें भी Condition same है| Deductible amount से उप्पर का Claim होना चाहिए तभी Super Top Up के पैसे मिलेंगे |

इसमें खास क्या है? एक Example देखते है|

Same Example लेते है :-

Base Policy – 5 लाख |
Super Top Up Cover – 5 लाख |

Claim आता है 7 लाख का | तो 5 लाख तो Base Policy से गए और 2 लाख Super Top Up से | अगर Same Year में आपको फिर से 2 लाख का Claim आता है तो यहां पर ये 2 लाख आपके Super Top Up से Cover हो जायेंगे | जो की Top Up में नहीं होते है|

तो इसलिए Super Top Up Best है Top Up से | और ज़रूरी नहीं है की Base Amount और Top Up या Super Top Up amount same हो |

Types of Health Insurance

Types of Health Insurance

Health Insurance दो Types के होते है :-

1. Floater :- अगर आपको एक बार में एक ही Premium में एक से ज्यादा लोगों के लिए Insurance चाहिए, जैसे की पूरी Family के लिए | तो Floater Plan आपके लिए है|
ये सस्ता होता है Individual Plan से |

पर इसके कुछ नुकसान भी है:-

आपके Family में 4 लोग है और आप 5 लाख का Floater Plan लेते हो | तो कोई भी बीमार हो आपके पास 5 लाख का Claim ही Available है| ऐसा न सोचे की आपके पास 20 लाख का Claim Available है| पूरे Family के लिए 5 लाख ही है|

जैसे की अगर किसी को Medical Emergency आती है और Claim आता है 3 लाख का | तब तो Easily Cover हो जाएगा | पर अगर Same Year में फिर से किसी को Medical Emergency पड़ती है और Claim आता है तो 3 लाख का | तो आपके पास सिर्फ 2 लाख है वही आपको मिलेंगे | 1 लाख आपको अपने जेब से लगाने पड़ेंगे |

अगर आप चाहते हो की same year में आपका Cover Restore हो जाये, तो आपको Restoration benefit लेना होगा | पर इस Extra facility के लिए आपके Premium थोड़े से बढ़ जायेंगे |

ये Feature में ये होगा की, जब दूसरी बार Claim आया तो आपके पास 2 लाख थे और 1 लाख आपको खुद लगाने पड़े | अगर Restoration benefit वाला Feature होता तो आपका 2 लाख फिर से Restore हो के 5 लाख हो जाता और आपको अपने जेब से पैसे नहीं लगाने पड़ते |

Floater Plan ले या Individual Plan ?

अगर आपके Family में कोई Elders है जिन्हे पहले से कोई बीमारी है तो ऐसे में आपका Premium बढ़ जाता है|

Suggestion ये है की – Elders People के लिए Individual Plan ले और बाकी लोगों के लिए Floater Plan.

2. Individual :- अगर आपको खुद के लिए या किसी एक के लिए Plan चाहिए तो Individual Plan लेने की ज़रूरत है|


Some Post Related to This Article :-

>> LIC Health Insurance Policy in Hindi.

>> Star Health Insurance Plans in Hindi

 

 

Spread the love
  • 8
    Shares
  • 8
    Shares

4 thoughts on “Health Insurance(हेल्थ इन्शुरन्स) in Hindi-जान है तो जहान है|”

Leave a Comment